Amika Chitranshi
Aahar Samhita by Amika

- Advertisement -

- Advertisement -

खाने की मुद्रा बताए भोजन/खाने में कितना स्वाद

खड़े होकर खाने पर अरुचिकर भोजन भी काफी हद तक अनुकूल लग सकता है...

790

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

एक स्वादिष्ट खाना कितना स्वादिष्ट लग सकता है? अरुचिकर खाना किस हद तक अनुकूल लगेगा? हम उसे खड़े होकर खाते हैं या बैठकर इस बात से भी प्रभावित होता है।

स्वाद विश्लेषण के पक्ष पर रोशनी डालते हुए जर्नल ऑफ कंज़्यूमर रीसर्च में छपे शोध में ये बात कही गयी है। भोजन/खाने के स्वाद के बारे में राय; भोजन/खाना खड़े होकर खाया गया है या बैठकर पर भी निर्भर करता है। खड़े रहने पर शरीर में उत्पन्न तनाव (फिजिकल स्ट्रेस) इसका कारण है।

Specifically, standing (vs. sitting) postures induce greater physical stress on the body, which in turn decreases sensory sensitivity.

excerpt from research Dipayan Biswas (Author)

भोजन/खाने की स्वीकार्यता को प्रभावित करने में इसकी उपयोगिता देखते हुए शोध के कुछ अंश:

बहुत बार पसंद और सेहत के बीच तालमेल बिठाना कठिन सा लगता है। अनाज, दाल, सब्जी, फल और भोज्य पदार्थों के अन्य कई विकल्प। भोज्य पदार्थों की एक लम्बी सूची सबके अपने गुण। सेहत के लिहाज से अलग जरूरतें; अलग भोज्य पदार्थों की अलग उपयोगितायें। सेहत के लिहाज से जरूरी भोजन बना तो लें, हर कोई पसंद करेगा ये जरूरी नहीं।

बच्चों में सेहत और पोषण के लिए जरूरी नए व्यंजनों से परिचय के समय तो ये समस्या और भी आम है। इसके लिए खेल-खेल में बातचीत करके बहलाते हुआ खिलाना आम परम्परा है।

ये अध्ययन इसके लिए बच्चों को खड़ा करके खिलाने की भी सलाह देता है।

This finding suggests that parents might be able to make unpleasant-tasting, healthy foods seem more palatable to reluctant children by having them eat standing up (vs. sitting down).

excerpt from research Courtney Szocs (Author)

हालांकि ये अध्ययन फूड सर्विस यूनिट में स्वाद विश्लेषण को प्रभावित करने वाले कारकों और मार्केटिंग के पक्षों को ध्यान में रख कर किया गया है।

अध्ययन, निष्कर्षों से फूड सर्विस यूनिट्स की डिज़ाइन और मार्केटिंग में इसकी उपयोगिता भी बताता है। अध्ययन में पाया गया कि खड़े होकर खाने पर बहुत स्वादिष्ट व्यंजन भी अपेक्षाकृत कम स्वादिष्ट लगता है। गरम खाना अपेक्षाकृत कम गरम लगता है। खाने वाला व्यक्ति सामान्य से कम खाता है।

जबकि अरुचिकर भोजन के लिए बिलकुल विपरीत परिणाम मिलते हैं। अरुचिकर भोजन उस स्तर तक बुरा नहीं लगा जिस स्तर तक आशंका थी।

When eating in a standing (vs. sitting) posture, consumers rate the taste of pleasant-tasting foods and beverages as less favorable, the temperature as less intense, and they consume smaller amounts.
The effects of posture on taste perception are reversed for unpleasant-tasting foods.

excerpt from research Annika Abell (Author)

इस अध्ययन के आधार पर खड़े होकर खाने पर अरुचिकर भोजन की स्वीकार्यता की संभावना बढ़ सकती है। क्योंकि खड़े होकर खाने पर अरुचिकर भोजन भी अपेक्षाकृत अनुकूल लगा।

नये स्वाद से परिचय के समय या अरुचिकर पर सेहतमंद भोजन को अपनाने में ये तरीका काम कर सकता है। बच्चों में स्वस्थ खानपान के लिए ये तरीका भी सहयोगी हो सकता है। खड़े रहने पर सामान्य से कम खाना वजन कम करने वालों के लिए उपयोगी हो सकता है।

अध्ययन में इसका कारण:

जब हम खड़े होकर खाते हैं तो हमारा शरीर तनाव (फिजिकल स्ट्रेस) में रहता है। ये तनाव स्वाद को महसूस करने की संवेदनशीलता को कम करता है। इसी वजह से स्वादिष्ट भोजन कम स्वादिष्ट और अरुचिकर भोजन अपेक्षाकृत अनुकूल लगता है।

बाहर से अतिरिक्त शारीरिक तनाव (फिजिकल स्ट्रेस) पर इससे अलग परिणाम दिखते हैं। अध्ययन में लोगों को वजनदार शॉपिंग बैग लेकर, बिना वजन लिए, फल चखने को कहा गया। फल का स्वाद खड़े और बैठे दोनों अवस्थाओं में बिना वजन लिए लोगों की तुलना में उतना अच्छा नहीं लगा।

शोध पढ़ने के लिए क्लिक करें 

नोट: इस लेख का उद्देश्य जानकारी और चर्चा मात्र है। आहार में एकदम से बदलाव या जीवन शैली में परिवर्तन पर विशेषज्ञ से व्यक्तिगत परामर्श आवश्यक है।

- Advertisement -

Source ResearchGate
Via The Week

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More